8.7 C
London
Friday, March 24, 2023

हरियाणा: भाजपा-जजपा सरकार अनुसूचित जाति के हकों पर कर रही कुठाराघात

- Advertisement -
- Advertisement -

 

कांग्रेस कार्यसमिति की सदस्य एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री कुमारी सैलजा ने कहा कि भाजपा-जजपा सरकार लगातार अनुसूचित जाति के हकों पर कुठाराघात कर रही है। इस सरकार में अनुसूचित जाति के विद्यार्थियों को वजीफा देने की योजना में लाभार्थियों की संख्या करीब आठ गुना कम हो गई है। भाजपा सरकार की गरीब विरोधी मानसिकता सबके सामने एक बार फिर उजागर हो गई  है।

हरियाणा, 27 जुलाई।

कांग्रेस कार्यसमिति की सदस्य एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री कुमारी सैलजा ने कहा कि भाजपा-जजपा सरकार लगातार अनुसूचित जाति के हकों पर कुठाराघात कर रही है। इस सरकार में अनुसूचित जाति के विद्यार्थियों को वजीफा देने की योजना में लाभार्थियों की संख्या करीब आठ गुना कम हो गई है। भाजपा सरकार की गरीब विरोधी मानसिकता सबके सामने एक बार फिर उजागर हो गई है।
प्रेस को जारी बयान में कुमारी सैलजा ने कहा कि हरियाणा में अनुसूचित जाति के विद्यार्थियों को वजीफा देने की योजना में लाभार्थियों की संख्या करीब आठ गुना कम हो गई है। वर्ष 2013-14 में कांग्रेस सरकार के दौरान एक लाख 40 हजार 804 विद्यार्थियों को वजीफा दिया गया था, जो कि भाजपा कार्यकाल के दौरान 2015-16 में आठ गुना घटकर महज 17 हजार 894 रह गया। उन्होंने कहा कि सरकार जानबूझकर षड्यंत्र के तहत अनुसूचित जाति के हकों पर कुठाराघात कर रही है। यह पहला मौका नहीं है इससे पहले भी अनुसूचित जाति के हकों पर लगातार कुठाराघात किया जाता रहा है।
कुमारी सैलजा ने कहा कि भाजपा और आरएसएस लगातार अनुसूचित जाति के खिलाफ षड्यंत्र रचती आ रही है। जब से भाजपा सरकार आई है, अनुसूचित जाति पर अत्याचार बढ़े हैं, विकास के कार्य भी रुक गए हैं। केंद्र में कांग्रेस सरकार ने अपने कार्यकाल में वंचित व शोषित वर्गों के लिए अनेक कार्य किए व कानून बनाए। जिससे दलित वर्ग के लोगों को अधिकार व न्याय मिल सके। मगर भाजपा सरकार लगातार अनुसूचित जाति को मिले अधिकारों को खत्म करने का प्रयास कर रही है। इसे कतई बर्दाश्त नहीं किया जा सकता है।
कुमारी सैलजा ने कहा कि भाजपा सरकार की भेदभाव वाली नीतियों के चलते अनुसूचित जाति के विद्यार्थियों को मिलने वाले वजीफे में कमी दुर्भाग्यपूर्ण है। प्रोत्साहन की बजाय हतोत्साहित करना और गरीब विरोधी भाजपाई मानसिकता सबके सामने है।

- Advertisement -
Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here